सोमवार, 26 सितंबर 2011

अभि-अनु २६ सितंबर २०११

अभिव्यक्ति के २६ सितंबर २०११ के अंक में पढ़ें मथुरा कलौनी की कहानी- एक झूठ, संजीव सलिल की लघुकथा- गांधी और गांधीवाद, अनुपम मिश्र का आलेख- तैरने वाला समाज डूब रहा है, रिंपी खिल्लन सिंह का आलेख- सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की लोक चेतना और देशविदेश से साहित्यिक सांस्कृतिक समाचार। इसके अतिरिक्त इसके अतिरिक्त स्थायी स्तंभों में होली के पकवान, इला प्रवीण की शिशुचर्या का ३९वाँ सप्ताह, अलका मिश्रा का आयुर्वेदिक सुझाव, ज्योतिषाचार्या संगीता पुरी से इस पक्ष का भविष्य फल, कंप्यूटर की कक्षा में नई जानकारी- साथ में- वर्ग पहेली, नवगीत की पाठशाला, तथा कीर्तीश का कार्टून के नए तेवर।
http://www.abhivyakti-hindi.org/1purane_ank/2011/09_26_11.html

अनुभूति के २६ सितंबर २०११ के अंक में पढ़ें- गीतों में राम सेंगर, अंजुमन में सिया सचदेव, छंदमुक्त में शिखा वार्ष्णेय, दोहों में शशि पाधा और पुनर्पाठ में राष्ट्रपिता के समर्पित कविताओं का संकलन- तुम्हें नमन।   
http://www.anubhuti-hindi.org/1purane_ank/2011/09_26_11.html

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें