सोमवार, 29 अगस्त 2011

अभि-अनु २९ अगस्त २०११

अभिव्यक्ति के २९ अगस्त २०११ के अंक में पढ़ें शीला इंद्र की कहानी- गिलास, रतनचंद जैन का प्रेरक प्रसंग- प्रगति और अभिमान, ऋषभ देव शर्मा की कलम से सच्चिदानंद चतुर्वेदी का उपन्यास `अधबुनी रस्सी', डा .सुरेशचन्द्र शुक्ल "शरद आलोक" का संस्मरण भारतीय संस्कृति के आख्याता हजारी प्रसाद द्विवेदी और समाचारों में देश-विदेश से साहित्यिक-सांस्कृतिक सूचनाएँ। इसके अतिरिक्त स्थायी स्तंभों में रसोईघर में हरा भरा कवाब, अलका मिश्रा का आयुर्वेदिक सुझाव, घर परिवार में इला गौतम का अध्ययन शिशु का ३५वाँ सप्ताह और कंप्यूटर की कक्षा में नई जानकारी- साथ में- वर्ग पहेली, नवगीत की पाठशाला तथा कीर्तीश का कार्टून के नए तेवर।

अनुभूति के २९ अगस्त २०११ के अंक में पढ़ें- गीतों में राम अधीर, गौरवग्राम में मदन वात्स्यायन, अंजुमन में आशीष श्रीवास्तव, छंदमुक्त में प्रियंकर पालीवाल और दोहों में सुभाष नीरव।
http://www.anubhuti-hindi.org/1purane_ank/2011/08_29_11.html

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें