रविवार, 1 मई 2011

अभि-अनु २५ अप्रैल २०११

अभिव्यक्ति के २५ अप्रैल २०११ को प्रकाशित अंक में पढ़ें अभिज्ञात की कहानी सोने की आरामकुर्सी, गिरीश बिल्लौरे मुकुल का व्यंग्य- उफ़ ये चुगलखोरियाँ, डॉ चैत्यन्य सक्सेना का आलेख- ऐतिहासिक बूँदी की सांस्कृतिक यात्रा, पुनर्पाठ में अर्बुदा ओहरी की कलम से- एक दिन माँ के लिये और समाचारों में देश-विदेश से साहित्यिक-सांस्कृतिक सूचनाएँ। इसके अतिरिक्त स्थायी स्तंभों में नए व्यंजन, इला प्रवीण की शिशुचर्या का सत्रहवाँ सप्ताह, अलका मिश्रा का आयुर्वेदिक सुझाव, कंप्यूटर की कक्षा में नई जानकारी- साथ में- वर्ग पहेली, नवगीत की पाठशाला, तथा कीर्तीश का कार्टून के नए तेवर। http://www.abhivyakti-hindi.org/1purane_ank/2011/04_25_11.html



अनुभूति के 25 अप्रैल २०११ को प्रकाशित अंक में पढ़ें- गीतों में शिवबहादुर सिंह भदौरिया, अंजुमन में- छंदमुक्त में- सिद्धेश्वर सिंह, कुंडलियों में- डॉ. रूपचंद्र शास्त्री मयंक, पुनर्पाठ में- अमिताभ मित्र, काव्य संगम में- ओ एन वी कुरूप की मलयालम कविताओं का हिंदी रूपांतर। रूपांतरकार है संतोष अलेक्स। http://www.anubhuti-hindi.org/1purane_ank/2011/04_25_11.html

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें