सोमवार, 16 मई 2011

अभि-अनु १६ मई २०११


अभिव्यक्ति के १६ मई २०११ को प्रकाशित अंक में पढ़ें उमेश अग्निहोत्री की कहानी बनियान, प्रवीण शर्मा की लघुकथा- राजनीतिक बाप, दिविक शर्मा का आलेख- २१वीं सदी का बाल-साहित्य: विभिन्न भाषाओं से अनुवाद के संदर्भ में, डॉ राजेन्द्र गौतम की कलम से- नवगीत और जातीय अस्मिता और पुनर्पाठ में कृपाशंकर तिवारी के विचार- मुसीबत बनता प्लास्टिक कचरा। इसके अतिरिक्त स्थायी स्तंभों में नया व्यंजन, इला प्रवीण की शिशुचर्या का २०वाँ सप्ताह, अलका मिश्रा का आयुर्वेदिक सुझाव, कंप्यूटर की कक्षा में नई जानकारी- साथ में- वर्ग पहेली, नवगीत की पाठशाला, तथा कीर्तीश का कार्टून के नए तेवर। http://www.abhivyakti-hindi.org/1purane_ank/2011/05_16_11.html

अनुभूति के १६ मई २०११ को प्रकाशित अंक में पढ़ें- गीतों में शीलेन्द्र सिंह चौहान, अंजुमन में प्रवीण पंडित, छंदमुक्त में नियति वर्मा, लंबी कविता में कुमार रवीन्द्र और पुनर्पाठ में सुभाष चौधरी की रचनाएँ। http://www.anubhuti-hindi.org/1purane_ank/2011/05_16_11.html

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें